डॉ. राकेश अग्रवाल

डॉ. राकेश अग्रवाल ने दिनांक 1 जनवरी,  2019 को जवाहरलाल स्‍नातकोत्‍तर आयुर्विज्ञान शिक्षा एंव अनुसंधान संस्‍थान,  पुदुच्‍चेरी के निदेशक के पद का कार्यभार ग्रहण किया।

डॉ. राकेश अग्रवाल ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली से एम.बी.बी.एस. और एम.डी. (मेडिसिन) की उपाधि प्राप्त की, और स्‍नातकोत्‍तर चिकित्‍सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्‍थान, चण्‍डीगढ़ से डी.एम. (गैस्ट्रोएंटरोलॉजी) की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन, लंदन, यू.के. से महामारी विज्ञान में स्‍नातकोत्‍तर उपाधि भी प्राप्त की है और रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र, अटलांटा, यू.एस.ए. में प्रयोगशाला अनुसंधान में प्रशिक्षण प्राप्त किया है।

उन्‍होंने 1991 में संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान,  लखनऊ में गैस्ट्रोएंटरोलॉजी में एक संकाय सदस्य के रूप में कार्यभार ग्रहण किया और तब से 2018 तक आचार्य होने के साथ साथ विभिन्‍न कार्यभार संभाले हैं।

डॉ. अग्रवाल एक प्रख्यात चिकित्सक,  शिक्षक और शोधकर्ता हैं। वे वायरल हेपटाइटिस के नैदानिक, महामारी विज्ञान,  प्रयोगशाला और आर्थिक पहलुओं पर अनुसंधान में सक्रिय रहे हैं। वे    टीकाकरण, महामारी विज्ञान, जीव सांख्‍यिकी, अनुसंधान कार्यप्रणाली, वैज्ञानिक संचार, वैज्ञानिक पत्रिका संपादन, स्वास्थ्य अर्थशास्त्र, चिकित्सा शिक्षा आदि में भी रुचि रखते हैं। वे भारतीय विज्ञान अकादमी, भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी, राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी (भारत) तथा  मेडिकल साइंसेज़ की राष्‍ट्रीय अकादमी (भारत) के निवार्चित अध्‍येता हैं। वे कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पैनल व समितियों के सदस्‍य हैं। इस के अलावा वे एक प्रमुख गैस्ट्रोएंटरोलॉजी में अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिक पत्रिका के संपादक भी हैं।